नए रूप रंग के साथ अपने प्रिय ब्‍लॉग पर आप सबका हार्दिक स्‍वागत है !

ताज़ा प्रविष्ठियां

संकल्प एवं स्वागत्

ज्योतिष निकेतन संदेश हिन्‍दी की मासिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित लेख इस ब्लॉग पर जीवन को सार्थक बनाने हेतु आपके लिए समर्पित हैं। आप इसके पाठक हैं, इसके लिए हम आपके आभारी रहेंगे। हमें विश्‍वास है कि आप सब ज्योतिष, हस्तरेखा, अंक ज्योतिष, वास्तु, अध्यात्म सन्देश, योग, तंत्र, राशिफल, स्वास्थ चर्चा, भाषा ज्ञान, पूजा, व्रत-पर्व विवेचन, बोधकथा, मनन सूत्र, वेद गंगाजल, अनुभूत ज्ञान सूत्र, कार्टून और बहुत कुछ सार्थक ज्ञान को पाने के लिए इस ब्‍लॉग पर आते हैं। ज्ञान ही सच्चा मित्र है और कठिन परिस्थितियों में से बाहर निकाल लेने में समर्थ है। अत: निरन्‍तर ब्‍लॉग पर आईए और अपनी टिप्‍पणी दीजिए। आपकी टिप्‍पणी ही हमारे परिश्रम का प्रतिफल है।

मंगलवार, मई 11, 2010

क्या आप हकलाते हैं?



आप हकलाते हैं तो परेशान न हों। हकलाने का इलाज डॉक्टर स्पीच थरेपी से करते हैं। हकलाने से मन में हीनता आती है। लेकिन आप परेशान न हों, आपको एक प्रयोग बताते हैं, इससे हकलाना दूर हो जाता है।
1. सोमवार एवं शुक्रवार को आपको सूर्योदय से पूर्व उठना होगा।
2. नित्य कर्म से निपटकर, स्नानादि करके एक आसन पर उत्तर की ओर मुख करके बैठ जाएं।
3. तदोपरान्त अपने सामने एक पानी का गिलास रख लें।  इसके बाद  ऊँ सरस्वत्यै नमः मन्त्र का 108 बार जाप करें। जाप करते समय यह महसूस करें की आप हकलाने के दोष से मुक्त हो रहे हैं। इसे नित्य करें।
4. सांयकाल दो सुपारी अपने ऊपर से वार कर दक्षिण दिशा में फेंक दें।
इस प्रयोग को नित्य करने से कुछ सप्ताह में ही हकलाना दूर हो जाता है। इसमें चमत्कारिक ढंग से लाभ होता है। 
    यदि आप इस रोग से ग्रस्त हैं तो इस प्रयोग को करके लाभ उठाएं। 
    यदि आपको लगता है कि कोई और भी परेशान है तो उसे बताकर उसे भी लाभ पहुंचा सकते हैं।

4 टिप्‍पणियां:

  1. बेनामी12 जून, 2010 10:10

    मेरी हकलाहट जन्म से ही हैं,क्या आपके बताए विधि से मुझे लाभ होगा ?

    उत्तर देंहटाएं
  2. अनेक लोग लाभ उठा चुके हैं, करके देखें, साथ में स्‍पीच थरेपी से अभ्‍यास भी सीखें। करके देखने में कुछ जाता नहीं है। सर्वप्रथम नकारात्‍मक विचार मन में है लाभ होगा या नहीं तो नहीं होगा। सकारात्‍मक विचार ही अनुकूल परिणाम देने में सहयोगी है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. सर
    पानी के गिलास का क्या करना है
    मेरा हकलाना जन्म से है मेरी उम्र भी 26 साल है क्या लाभ होगा कृपया उत्तर दे आपकी अति कृपा होगी

    उत्तर देंहटाएं
  4. meri ye bimari janm se hai. Mai ek computer teacher hu mujhe class me safi paresani hoti hai. mujhe kaii bar nak se sans bar bar khinchane ke bad koi word bola jata hai.

    उत्तर देंहटाएं

टिप्‍पणी देकर अपने विचारों को अभिव्‍यक्‍त करें।

पत्राचार पाठ्यक्रम

ज्योतिष का पत्राचार पाठ्यक्रम

भारतीय ज्योतिष के एक वर्षीय पत्राचार पाठ्यक्रम में प्रवेश लेकर ज्योतिष सीखिए। आवेदन-पत्र एवं विस्तृत विवरणिका के लिए रु.50/- का मनीऑर्डर अपने पूर्ण नाम व पते के साथ भेजकर मंगा सकते हैं। सम्पर्कः डॉ. उमेश पुरी 'ज्ञानेश्वर' ज्योतिष निकेतन 1065/2, शास्त्री नगर, मेरठ-250 005
मोबाईल-09719103988, 01212765639, 01214050465 E-mail-jyotishniketan@gmail.com

पुराने अंक

ज्योतिष निकेतन सन्देश
(गूढ़ विद्याओं का गूढ़ार्थ बताने वाला हिन्दी मासिक)
स्टॉक में रहने तक मासिक पत्रिका के प्रथम, द्वितीय, तृतीय, चतुर्थ, पंचम, षष्‍ठ एवं सप्‍तम वर्ष के पुराने अंक 1920 पृष्ठ, सजिल्द, गूढ़ ज्ञान से परिपूर्ण और संग्रहणीय हैं। सातों पुस्तकें पत्र लिखकर मंगा सकते हैं। आप रू.1950/-का ड्राफ्‌ट या मनीऑर्डर डॉ.उमेश पुरी के नाम से बनवाकर ज्‍योतिष निकेतन, 1065, सेक्‍टर 2, शास्‍त्री नगर, मेरठ-250005 के पते पर भेजें अथवा उपर्युक्त राशि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के अकाउंट नं. 32227703588 डॉ. उमेश पुरी के नाम में जमा करा सकते हैं। पुस्तकें रजिस्टर्ड पार्सल से भेज दी जाएंगी। किसी अन्य जानकारी के लिए नीचे लिखे फोन नं. पर संपर्क करें।
ज्‍योतिष निकेतन, मेरठ
0121-2765639, 4050465 मोबाईल: 09719103988

विज्ञापन