नए रूप रंग के साथ अपने प्रिय ब्‍लॉग पर आप सबका हार्दिक स्‍वागत है !

ताज़ा प्रविष्ठियां

संकल्प एवं स्वागत्

ज्योतिष निकेतन संदेश हिन्‍दी की मासिक पत्रिका है। इसमें प्रकाशित लेख इस ब्लॉग पर जीवन को सार्थक बनाने हेतु आपके लिए समर्पित हैं। आप इसके पाठक हैं, इसके लिए हम आपके आभारी रहेंगे। हमें विश्‍वास है कि आप सब ज्योतिष, हस्तरेखा, अंक ज्योतिष, वास्तु, अध्यात्म सन्देश, योग, तंत्र, राशिफल, स्वास्थ चर्चा, भाषा ज्ञान, पूजा, व्रत-पर्व विवेचन, बोधकथा, मनन सूत्र, वेद गंगाजल, अनुभूत ज्ञान सूत्र, कार्टून और बहुत कुछ सार्थक ज्ञान को पाने के लिए इस ब्‍लॉग पर आते हैं। ज्ञान ही सच्चा मित्र है और कठिन परिस्थितियों में से बाहर निकाल लेने में समर्थ है। अत: निरन्‍तर ब्‍लॉग पर आईए और अपनी टिप्‍पणी दीजिए। आपकी टिप्‍पणी ही हमारे परिश्रम का प्रतिफल है।

शुक्रवार, जून 26, 2009

कैसे जाने कि इष्ट देवता कौन हैं? -पं. ज्ञानेश्वर

आप जानते ही हैं कि हिन्दुओं के ३३करोड़ देवी देवता हैं। साल का कोई सा दिन ऐसा नहीं जाता होगा जिस दिन व्रत या त्यौहार न हो। एक ही देवता की आराधना करनी चाहिए। जो एक प्रिय देवता होता है वही इष्टदेव होता है। एक देवता की आराधना उत्तम है पर अन्य देवताओं से परान्मुख नहीं होना चाहिए, अपितु उनके प्रति श्रद्धा रखते हुए प्रणाम अवश्य करना चाहिए। विशिष्ट पूजा 
अर्चना अपने इष्टदेव की ही करनी चाहिए। ईष्ट आराधना के अतिरिक्त यज्ञ, दान, तप, व्रत आदि कर्म किसी भी परिस्थिति में नहीं त्यागने चाहिएं क्योंकि ये मन को पवित्र करते हैं, कष्टों से बचाते हैं एवं पूर्वकृत पापों के प्रभाव से बचाते हैं।
महर्षि जैमिनी ने इष्टदेव के चयन में आत्मकारक ग्रह को मान्यता प्रदान की है। कुण्डली में लग्न, लग्नेश, लग्न नक्षत्र के स्वामी एवं ग्रह जो सबसे अधिक अंश में है, चाहे वह किसी भी राशि में हो आत्मकारक ग्रह होता है।
इष्टदेव कैसे चुनें?
इष्ट देवता चुनने में निम्न बातों पर ध्यान देना चाहिए-
आत्मकारक ग्रह के अनुसार इष्टदेव की उपासना की जानी चाहिए।
अन्य मतानुसार पंचम भाव, पंचमेश तथा पंचम भाव में स्थित बली ग्रहों के अनुसार इष्टदेव की आराधना करनी चाहिए।
त्रिकोणेश जो सर्वाधिक बली हो उसके अनुसार भी इष्टदेव की उपासना करनी चाहिए।
कुण्डली का सर्वाधिक बली व शुभ ग्रह के अनुसार भी इष्टदेव का चयन करना चाहिए। यहां एक कुंडली दे रहे हैं जिसमें आत्म कारक ग्रह बुध है, पंचमेश शनि है, तीन त्रिकोणेश बुध, शनि व शुक्र में षडबलानुसार शुक्र बली है जबकि स्थिति के अनुसार बुध बली है। दो मतानुसार बुध बली है अतः इस ग्रह के अनुसार इष्टदेव चुनना चाहिए।
देवताओं में सूर्य से राम व विष्णु, चन्द्र से शिव या पार्वती, कृष्ण, मंगल से कार्तिकेय, नृसिंह, हनुमान या स्कंद, बुध से दुर्गा या भगवान बुद्ध, गुरु से ब्रह्मा या वामन, शुक्र से लक्ष्मी या परशुराम, शनि से भैरव, यम या कूर्म, राहु से शेषनाग या सरस्वती, केतु से मत्स्य या गणेश की उपासना करनी चाहिए।
जातक को दुर्गा की उपासना करनी चाहिए। नवम भाव से चन्द्र व केतु का संबंध है एवं चन्द्र उच्च का है। जातक का ध्यान शिव, पार्वती व गणेश के प्रति भी हो सकता है। जातक को शिव, पार्वती, गणेश व दुर्गा जी में से कोई भी एक इष्टदेव बना लेना चाहिए।
इस प्रकार आप अपना इष्टदेव आसानी से चुन सकते है। आप अपना एवं मित्रों का इष्टदेव चुनने में भी सहयोग दें।
(ज्योतिष निकेतन सन्देश मासिक हिन्दी पत्रिका जुलाई २००९ के अंक से साभार। पत्रिका निशुल्क ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए अपना ईमेल इस ईमेल पर भेजें-jyotishniketan@gmail.com )

38 टिप्‍पणियां:

  1. My date of Birth is 23.10.1969, place of birth is Delhi and Time of birth is 5.35 AM. can you please tell me my Ishta deavta

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपके लिए दुर्गा जी की उपासना करनी लाभदायक है। दूसरे स्‍थान पर आप लक्ष्‍मी जी को महत्‍व दे सकते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  3. my dob is 7-4-1986,birth place is new delhi & birth time is 4:20am plz can you tell me my istadeva also

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सौम्‍या जी आपके लिए दुर्गा, शिव या लक्ष्‍मी जी में से जिसमें आपका मन अधिक लगता हो उनको ईष्‍टदेव बनाना चाहिए।

      हटाएं
  4. सौम्‍या जी आपके लिए दुर्गा, शिव या लक्ष्‍मी जी में से जिसमें आपका मन अधिक लगता हो उनको ईष्‍टदेव बनाना चाहिए।

    उत्तर देंहटाएं
  5. Hello Umesh ji,

    Please help me to know my ISHT DEV.

    my dob is 09-02-1973 , time - 13:05 , place - khurja in district bulandshahar Uttar Pradesh.

    Thank you in advance.

    Vicky Sharma

    उत्तर देंहटाएं
  6. श्रीमान जी,

    मेरी जन्म तिथि 20/08/1973 एवं जन्म समय 07:17 am तथा जन्म स्थान शाहदरा, दिल्ली है। मैंने पूर्व में महसूस किया है कि जब भी मैं पूजा पाठ आदि में ज्यादा ध्यान देता हूँ तो कुछ ऐसा हो जाता है जिसकी वजह से मेरी जिन्दगी में बहुत कुछ बदल जाता है जैसे ट्रांसफर हो जाना इत्यादि। इसी डर से मैंने आजकल पूजा करन बन्द कर दिया है। आपका लेख पढने के बाद लग रहा है कि शायद सही देवता न चुनने के कारण ही ऐसा हो रहा था। कृपया मेरा इष्ट देव बताने की कृपा करें।

    उत्तर देंहटाएं
  7. गुरूजी, मेरी मकर लग्न
    की कुण्डली है।
    प्रथम भाव में 10 गुरू
    द्वितीय भाव में 11
    त्रतीय भाव में 12
    चतुर्थ भाव में 1 राहु
    पंचम भाव में 2 चंद्र
    षष्टम भाव में 3
    सप्तम भाव में 4
    अष्टम भाव में 5
    नवम भाव में 6 शुक्र मंगल
    दशम भाव में 7 सूर्य केतू
    एकादश भाव में 8 शनि बुध
    द्वादश भाव में 9
    मेरे इष्ट देव कौन है?
    बताने की क्रपा करें।
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपके इष्‍टदेवता दुर्गामाता एवं शिवजी में से जिस पर आपका विश्‍वास और एकाग्रता अधिक रहती हो उसकी उपासना करें।

      हटाएं
  8. श्रीमान मेरी जन्म दिनाँक
    16-08-1986 है।
    मेरे कौन से ईष्ट देव हूए कृप्या बताईए।

    उत्तर देंहटाएं

  9. Please help me to know my ISHT DEV.

    my dob is 01-01-1970 , time - 8:30 , place - NEW DELHI


    LAV DEV SHARMA

    उत्तर देंहटाएं
  10. Hello umeshji.. I want to know my Isht Devta..my dob is 08.10.1975..time is 11.55A.M..place Neemuch (MP)..Thanx a ton !!

    उत्तर देंहटाएं
  11. Can you help me knowing my Isht Devta. My details are:
    name: Puneet
    DOB: 28/4/1981
    Time: 18:15 (6:15pm)
    Place : faridabad

    उत्तर देंहटाएं
  12. Hello Umesh ji,

    my name is Aniket

    my dob is 14/jan/1984, time - 05:50 & place - Chandigarh

    Please Tell me my Isht Dev.

    Tthanks

    उत्तर देंहटाएं
  13. Hello Umesh ji,

    My Name is Aniket. time - 05:50 & place - Chandigarh

    Please Tell me my Isht Dev.

    Thanks

    उत्तर देंहटाएं
  14. my date of birth is 24/01/1988 and time is 11:58 pm ..birth place is kanpur (U.P.)...


    i want to know my isht dev and mukhya grah..

    kindly help me..

    thank you

    उत्तर देंहटाएं
  15. UMESH JI,

    DOB 16-01-1971, TIME 03:45 AM, PLACE- AMRITSAR

    PLEASE CAN YOU TELL ME MY ISHT DEVTA

    MY EMAIL IS gauravmehra71@gmail.com

    thanks

    gaurav

    उत्तर देंहटाएं
  16. Hello Umesh Ji,

    May you help me in identifying my Isht devta, my DOB is 11-6-1977, TOB is 18:43 and POB is Narsinghpur (M.P)

    Many thanks and Regards!

    उत्तर देंहटाएं
  17. Dear sir Hello
    Please help me to know my Ishta Devata
    My Date of birthday 25/10/1986, time -10:00 Am Place -Roorkee in District -Haridwar,Uttarakhand
    my email-id-anuj9756@gmail.com
    plz give me my answer

    उत्तर देंहटाएं
  18. My date of birth 2apr1985 10.30AM Merta City Rajasthan pls sir tell me my ist dev

    उत्तर देंहटाएं
  19. मनोज जी आपके इष्‍टदेवता हनुमान जी हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  20. my date of birth is 15 march 1985 03:45 AM kanpur (uttar pradesh). Kindly tell my isht dev.

    उत्तर देंहटाएं
  21. सुमित जी आपके इष्‍टदेवता शिवजी हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  22. Guruju, Thanks for your precious guidance to all people.
    My DOB is 06th June 1984 time: 10:10 AM place: Shevgaon (Ahmednagar, Maharashtra) Kindly guide me for Mukhya graha and Isht Dev. Currently I am wrshipping Lord Shiva as my Isht.

    उत्तर देंहटाएं
  23. आप शिव, ब्रह्मा एवं हुनमान जी में से जिसमें आपका विश्‍वास जमता हो उनकी उपासना कर सकते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  24. My DOB is 3rd Feb 1987. Time: 3:16am . Place: jabalpur (m.p.) can u please guide to know my mukhya grah and ishta deva.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपके मुख्‍य ग्रह मंगल, गुरु व चन्‍द्र हैं। आपके इष्‍टदेवता शिव व हनुमान जी हैं। इनमें से जिन पर आपका विश्‍वास अधिक टिकता हो उन्‍हें इष्‍टदेवता बना लें।

      हटाएं
  25. My date of birth 6 june 1991 11:05 pm etawah (uttar pradesh) pls sir tell me my ist dev

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपके इष्‍टदेवता शिव, लक्ष्‍मी व दुर्गा माता में से जिन पर आपका विश्‍वास अधिक टिकता हो उन्‍हें अपना इष्‍टदेव बना सकते हैं। आपको दुर्गा माता की उपासना करनी चाहिए।

      हटाएं
  26. My date of birth is 29 january 1975, 07:58 min bilaspur (chattisgarh) mere isht dev kya hain

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप लक्ष्‍मी,शिव एवं दुर्गा में से जिनमें आपका विश्‍वास अधिक हो उसे इष्‍टदेवता बना सकते हैं।

      हटाएं
    2. Meri wife ki date of birth 5 december 1978 9:15 p.m. muzaffarpur(bihar) hain unke isht kya honge

      हटाएं
    3. आपकी पत्‍नी का हनुमान जी, शिव एवं ब्रह्मा जी में से जिनमें विश्‍वास अधिक हो उसे इष्‍टदेवता बना सकती हैं।

      हटाएं

टिप्‍पणी देकर अपने विचारों को अभिव्‍यक्‍त करें।

पत्राचार पाठ्यक्रम

ज्योतिष का पत्राचार पाठ्यक्रम

भारतीय ज्योतिष के एक वर्षीय पत्राचार पाठ्यक्रम में प्रवेश लेकर ज्योतिष सीखिए। आवेदन-पत्र एवं विस्तृत विवरणिका के लिए रु.50/- का मनीऑर्डर अपने पूर्ण नाम व पते के साथ भेजकर मंगा सकते हैं। सम्पर्कः डॉ. उमेश पुरी 'ज्ञानेश्वर' ज्योतिष निकेतन 1065/2, शास्त्री नगर, मेरठ-250 005
मोबाईल-09719103988, 01212765639, 01214050465 E-mail-jyotishniketan@gmail.com

पुराने अंक

ज्योतिष निकेतन सन्देश
(गूढ़ विद्याओं का गूढ़ार्थ बताने वाला हिन्दी मासिक)
स्टॉक में रहने तक मासिक पत्रिका के प्रथम, द्वितीय, तृतीय, चतुर्थ, पंचम, षष्‍ठ एवं सप्‍तम वर्ष के पुराने अंक 1920 पृष्ठ, सजिल्द, गूढ़ ज्ञान से परिपूर्ण और संग्रहणीय हैं। सातों पुस्तकें पत्र लिखकर मंगा सकते हैं। आप रू.1950/-का ड्राफ्‌ट या मनीऑर्डर डॉ.उमेश पुरी के नाम से बनवाकर ज्‍योतिष निकेतन, 1065, सेक्‍टर 2, शास्‍त्री नगर, मेरठ-250005 के पते पर भेजें अथवा उपर्युक्त राशि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के अकाउंट नं. 32227703588 डॉ. उमेश पुरी के नाम में जमा करा सकते हैं। पुस्तकें रजिस्टर्ड पार्सल से भेज दी जाएंगी। किसी अन्य जानकारी के लिए नीचे लिखे फोन नं. पर संपर्क करें।
ज्‍योतिष निकेतन, मेरठ
0121-2765639, 4050465 मोबाईल: 09719103988

विज्ञापन